eSIM Kya Hai Aur Yah Kaise Kaam Karta Hai

Aryan Mandal
12 Min Read
eSIM Kya Hai

eSIM Kya Hai : आज के दौर में Smartphone का इस्तेमाल हर कोई करता है. और आपने Smartphone में सिम कार्ड का इस्तेमाल जरूर किया होगा.

और चाहे स्मार्टफोन हो या फीचर फोन, बिना सिम कार्ड के इसका कोई मूल्य नहीं है. क्योंकि सिम कार्ड की मदद से हम नेटवर्क से जुड़ पाते हैं. दोस्तों आपने Standard SIM, Micro SIM और Nano SIM का इस्तेमाल किया होगा.

या हो सकता है कि आप उनके बारे में पहले से ही जानते हों. लेकिन क्या आपने कभी eSIM के बारे में सुना है? के eSIM क्या होता है? और eSIM कैसे काम करता है?

अगर आप नहीं जानते हैं और ना ही आपने कभी eSIM के बारे में सुना है. तो आज हम इस पोस्ट में eSIM के बारे में चर्चा करेंगे.

और हमेशा की तरह हम कुछ नया सीखने की कोशिश करेंगे. हमारे साथ बने रहें और इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें। तो चलिए बिना देर किए शुरू करते हैं.

eSIM kya hai

eSIM का Full Form (Embedded Subscriber Identity Module) होता है. ई सिम एक डिजिटल सिम है, जिसे आप फिजिकल सिम कार्ड के बदले इस्तेमाल कर सकते हैं.

जैसा कि आप सभी जानते ही होंगे कि iPhones के मॉडल में केवल एक सिम कार्ड का ही उपयोग किया जाता है. जो एक Nano-SIM है.

लेकिन अब ई सिम की मदद से हम iPhones में 2 या इससे ज्यादा सिम कार्ड इस्तेमाल कर सकते हैं. और अगर आप अपने iPhones में ई सिम का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको किसी फिजिकल Sim Card की जरूरत नहीं पड़ेगी.

आप बिना सिम कार्ड डाले ई सिम की मदद से कॉल पर बात कर सकते हैं. ई सिम के जरिए आप वो सभी सुविधाएं प्राप्त कर सकते हैं,

जो एक Physical SIM card के साथ मिलती हैं. eSIM एक Virtual SIM card है, जो एक नई Technology है.

eSIM kaise kaam karata hai
eSIM kya hai

ई सिम का मतलब Embedded SIM यानी Embedded Universal Integrated Circuit Card (eUICC) है, जो एक Chip के जरिए mobile से जुड़ा होता है.

Mobile में लगी चिप Software के जरिए काम करती है. यह Internal Storage की तरह काम करता है, जिसके अंदर आप कोई भी डाटा स्टोर कर सकते हैं.

जैसा कि हमने बताया कि ई सिम एक वर्चुअल सिम है. अगर आप इस ई सिम को एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में बदलना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इस ई सिम को पुराने फोन से Deactivate करना होगा.

पुराने फोन से Deactivate करने के बाद नए फोन में इसे एक्टिवेट करना होगा जिसमें आप ई सिम को बदलना चाहते हैं. बाजार में कई Mobile Operators जैसे Jio, Airtel और Vodafone eSIM की सुविधा प्रदान करते हैं.

eSIM kaise kaam karata hai?

eSIM के लॉन्च होने के बाद से लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं. क्योंकि इसमें आप आसानी से नेटवर्क के बीच स्विच कर सकते हैं. और आने वाले भविष्‍य में इसका बहुत उपयोग होने वाला है.

अगर हम बात करें कि ई सिम कैसे काम करता है, तो ई सिम का फायदा उठाने के लिए आपके पास eSIM सपोर्टेड स्मार्टफोन होना बहुत जरूरी है. क्योंकि ई सिम Supported Device के बिना यह फीचर काम नहीं करेगा.

जैसा कि हमने बताया कि ई सिम एक वर्चुअल सिम है, इसमें किसी फिजिकल सिम कार्ड की जरूरत नहीं होती है. ई सिम Supported स्मार्टफोन में किसी physical सिम कार्ड की आवश्यकता नहीं है .

क्योंकि स्मार्टफोन में स्थापित चिप की मदद से आप बिना सिम कार्ड के आसानी से अपने सिम को activate कर सकते हैं.

और हम स्मार्टफोन में लगी ई सिम चिप को बार-बार Rewrite भी कर सकते हैं. अब आप सोच रहे होंगे कि अब ये Rewrite चीज क्या है.

तो मैं आपको बता दूं कि मान लीजिए आप एक फिजिकल सिम कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं. और अगर आप उस नंबर को बदलना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको एक और फिजिकल सिम कार्ड की जरूरत पड़ती है.

लेकिन ई सिम में Rewrite की क्षमता होती है, अगर आप किसी भी नंबर को बदलना चाहते हैं तो बिना सिम कार्ड बदले आसानी से नंबर बदल सकते हैं.

उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि आप एयरटेल के सिम कार्ड का उपयोग करते हैं. और अगर आप जियो सिम कार्ड का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको पास की दुकान में जाकर सिम कार्ड खरीदने की जरूरत नहीं है. eSIM की मदद से आप घर बैठे ही आसानी से नंबर बदल सकते हैं।

eSIM Supported Smartphones in India

जब eSIM को भारत में लॉन्च किया गया था, तब बहुत कम स्मार्टफोन थे जो eSIM को सपोर्ट करते थे. लेकिन आज के समय में कई स्मार्टफोन में eSIM की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है.

जिसमें बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां शामिल हैं. जैसे की, इनमें Samsung, Apple, Google, Motorola और Oppo जैसी कंपनियां शामिल हैं.

तो आइए नीचे दी गई table पर एक नजर डालते हैं. और जानते हैं भारत में कौन सा स्मार्टफोन ई सिम को सपोर्ट करता है.

Smartphone CompanyeSIM Supported Smartphones
SamsungGalaxy S22 Ultra
SamsungGalaxy S22+
SamsungGalaxy S22
SamsungGalaxy S21 Ultra 5G
SamsungGalaxy S21+ 5G
SamsungGalaxy S21
SamsungGalaxy S20
SamsungGalaxy Z Fold2 5G
SamsungGalaxy Z Flip 5G
SamsungGalaxy Z Flip
SamsungGalaxy Fold
SamsungGalaxy Z Fold3 5G
SamsungGalaxy Note 20
SamsungGalaxy Note 20 Ultra 5G
AppleiPhone 13 Pro Max
AppleiPhone 13 Pro
AppleiPhone 13
AppleiPhone 13 mini
AppleiPhone 12 Pro Max
AppleiPhone 12 Pro
AppleiPhone 12
AppleiPhone 12 Mini
AppleiPhone 11 Pro Max
AppleiPhone 11 Pro
AppleiPhone 11
AppleiPhone XS Max
AppleiPhone XS
AppleiPhone XR
AppleiPhone SE (2022)
AppleiPhone SE (2020)
GooglePixel 6 Pro
GooglePixel 6
GooglePixel 5
GooglePixel 4a
GooglePixel 4
GooglePixel 3a
GooglePixel 3
MotorolaRazr 2019
OppoReno6 Pro 5G
OppoFind X5 Pro
OppoFind X5
OppoReno 5 A
OppoFind X3 Pro

eSIM के फायदे

हर चीज चाहे वह Technology से जुड़ी हो या Machinery से जुड़ी हो, हर चीज के फायदे और नुकसान होते हैं. अगर हम फायदे की बात करें तो जिस चीज से लोगों को फायदा नहीं है उसका लोग कैसे और क्यों इस्तेमाल करेंगे.

Advantages of eSIM
Advantages of eSIM

इसी तरह eSIM के भी कुछ फायदे हैं, जिसकी वजह से इसकी डिमांड दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है. तो चलिए बात करते हैं इसके कुछ फायदों के बारे में.

No Extra Space Required In eSIM

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि eSIM एक Virtual  SIM होता है और इसका कोई Physical Existence नहीं होता है.

अगर आप eSIM का इस्तेमाल करते हैं तो आपके मोबाइल में ज्यादा space की जरूरत नहीं है. जिससे मोबाइल में Space बच जाती है। और उस बची हुई Space के बदले में कुछ और Features जोड़े जा सकते हैं.

जैसे कि उस मोबाइल की Battery का size बढ़ाया जा सकता है। या फिर कोई और System भी Improve किया जा सकता है।

Water-Resistance

आजकल बाजार में कई Water-resistant फोन उपलब्ध हो रहे हैं। और लोग इसे खूब पसंद भी कर रहे हैं. लेकिन मोबाइल में External holes जैसे Charging Holes, Sim-Tray आदि के कारण.

मोबाइल निर्माता कंपनी को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. क्योंकि मोबाइल में जितने कम छेद होंगे, मोबाइल की Humidity उतनी ही बेहतर होगी. इससे बाहर से पानी या धूल मोबाइल के अंदर नहीं जा सकेगा.

अगर मोबाइल में केवल eSIM की सुविधा है, तो Extra Sim tray की जरूरत नहीं होगी. और मोबाइल की Water-resistant क्वालिटी और भी बेहतर हो जाएगी.

Multiple Numbers

आम तौर पर 2 अलग-अलग नंबरों के लिए फोन में 2 अलग-अलग सिम लगाई जाती हैं. आम तौर पर एक फोन में अधिकतम 2 Physical सिम का इस्तेमाल किया जा सकता है.

लेकिन eSIM से हम मोबाइल में सिम डाले बिना 5 अलग-अलग नंबरों और नेटवर्क पर बात कर सकते हैं।

कई बार ऐसा होता है कि दूर-दराज के इलाके में कोई नेटवर्क काम नहीं करता। लेकिन उस दूर-दराज इलाके में हम दूसरे नेटवर्क या नंबर से जुड़ सकते हैं.

लेकिन उसके लिए अलग सिम का होना जरूरी है. लेकिन eSIM की मदद से आप बिना किसी अतिरिक्त सिम के Multiple Numbers और नेटवर्क से Connect कर सकते हैं.

No Need Of Physical Sim Card

जैसा कि आप सब जानते हैं, चाहे वह अलग-अलग नंबरों के लिए हो या नया नंबर लेने के लिए, आप एक अलग SIM खरीदते हैं. वहीं अगर eSIM की बात करें तो आपको सिम को एक फोन से दूसरे फोन में बदलना है या दूसरा नंबर खरीदना हो.

तो आप इसे सिर्फ मोबाइल सॉफ्टवेयर की मदद से बहुत आसानी से कर सकते हैं. इसके लिए आपको किसी Physical SIM की जरूरत नहीं होगी.

No Fear Of Losing The Sim Card

हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि eSIM एक Digital Virtual Sim है. और इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं है. जब हमारे पास कोई भौतिक SIM card नहीं होगा, तो उन्हें खोने का कोई डर नहीं होगा.

वही अगर हम फिजिकल सिम कार्ड की बात करें तो ऐसा कई बार होता है हम सिम कार्ड को कहीं रख देते हैं. और इसके गुम होने की संभावना बहुत बढ़ जाती है.

लेकिन ई सिम के मामले में आपको कभी भी ऐसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

मेरे साथ भी ऐसा हुआ है, क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है? हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं.

Esim के नुकसान

Disadvantages of eSIM
Disadvantages of eSIM

You Can’t Change Your Sim Card

जैसा कि आप जानते हैं, eSIM एक Virtual SIM है. और इसके लिए हमें किसी Physical Sim कार्ड की जरूरत नहीं पड़ता है. तो मान लीजिए किसी भी समय आपका मोबाइल खराब हो जाता है या टूट जाता है.

फिर हम पुराने सिम को मोबाइल से निकाल कर नए मोबाइल में डाल देते हैं. लेकिन आप ई सिम में ऐसा नहीं कर सकते. क्योंकि मोबाइल के अंदर eSIM पहले से install रहता है. न तो हम इसे खराब या टूटे हुए मोबाइल से निकाल सकते हैं और न ही किसी और मोबाइल में लगा सकते हैं.

You Can’t Stop Being Tracked

वैसे आप अच्छी तरह से जान गए होंगे कि किसी भी हाल में आप अपने मोबाइल से eSIM को निकाल नहीं सकते हैं।

और आप चाहते हैं कि यदि कोई आपको ट्रैक न करे तो यह संभव नही है। और इस नुकसान का फायदा भी है, क्योंकि मान लीजिए आपका मोबाइल चोरी हो गया है।

और अगर आप इसे ट्रैक करना चाहते हैं, तो आप इसे बहुत आसानी से ट्रैक कर सकते हैं.

You Can’t Interchange Your Sim Card

जो लोग अलग-अलग स्मार्टफोन इस्तेमाल करने का शौक रखते हैं. फिजिकल सिम के मामले में वे लोग आसानी से सिम को Interchange कर सकते हैं.

लेकिन eSIM के मामले में ऐसा संभव नहीं है. क्योंकि ई सिम मोबाइल के Motherboard में लगा रहता है. और इसे हम न तो मोबाइल से निकाल सकते हैं और न ही Interchange कर सकते हैं.

Reset Settings After Factory Reset

eSIM की आखिरी नुकसान यह है, कि हम अपने मोबाइल को कई बार Reset करते हैं. और मोबाइल को रीसेट करते समय आपके मोबाइल में जमा सारा Data डिलीट हो जाता है.

और मान लीजिए आप ई सिम का इस्तेमाल करते हैं. और जब आप अपना मोबाइल रीसेट करते हैं, तो ई सिम में स्टोर किया गया सारा डेटा Delete हो जाता है.

और आपको फिर से ई सिम को एक्टिवेट करना पड़ता है. और इस दौरान आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

Also Read : Fastag Kya Hai Onine Fastag Kaise Banaaye

Conclusion – निष्कर्ष

आज आपने जाना कि eSIM Kya Hai, eSIM Kaise Kaam Karta, eSIM के क्या फायदे और नुकसान हैं. आशा है आपको eSIM से संबंधित कुछ जानकारी मिली होगी,

और कुछ नया सीखने को मिला होगा. हमारी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि आप के लिए ऐसी Technology से जुड़ा कंटेंट लाए. आपको हमारा यह छोटा सा प्रयास कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं.

अगर आपको इस लेख से जुड़ी कोई सवाल और सुझाव हो तोह हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताये. हम और हमारी टीम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे.

अगर आपको यह Article पसंद आया हो तो इसे Social Media पर Share जरूर करें. और हमें भविष्य में कुछ ऐसे ही अच्छे Content लिखने के लिए प्रेरित करें. जय हिन्द

Share This Article
Follow:
आप सभी को से स्वागत है MrHindiTech पर. मेरा नाम Aryan Mandal है.और में इस Blog का Founder हूँ
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *