Fastag Kya Hai Online Fastag Kaise Banaaye

4.5/5 - (16 votes)

Fastag kya hai? Onine Fastag kaise banaaye? दोस्तों आपने कार में सफर करते समय गौर किया होगा. Toll Tax भरने के लिए Toll Plaza पर लंबी-लंबी कतारों में लगना पड़ता है.

लेकिन अब ऐसा और देखने को नहीं मिलता है. यह सब फास्टैग की वजह से संभव हो पाया है. दोस्तों FASTag शब्द तो आपने सुना ही होगा. या फिर आपने इसे किसी कार में या फिर किसी और बड़े वाहन में देखा होगा.

और बहुत से लोग इसका इस्तेमाल भी करते है. ताकि वे समय और ईंधन दोनों बचा सकें. और लंबी लाइन में लंबा इंतजार नहीं करना पड़े. FASTag का उपयोग करने से आपका समय और ईंधन की बचत होती है.

लेकिन फास्टैग के नुकसानसे जुड़ी कई ऐसी बातें हैं जिनके बारे में हम नहीं जानते हैं. जैसे कि अगर आप इसे पहली बार रजिस्टर करना चाहते हैं.

या FASTag क्या है और यह कैसे काम करता है? और इसे इस्तेमाल करने के क्या फायदे हैं या इसे इस्तेमाल करने से क्या नुकसान हैं? और भी कई बातें Fastag से जुड़ी. हम इस लेख में जानेंगे, तो चलिए हमेशा की तरह कुछ नया सीखते हैं.

Fastag kya hai – What is Fastag in Hindi

FASTag एक ऐसा System है जिसकी मदद से वाहन मालिक को Toll Plaza पर होने वाली परेशानी से निजात मिल सकती है. इसके जरिए बिना वाहन रुके Toll Tax वसूला जा सकता है.

भारत सरकार ने देश में National Highway से आने के दौरान लंबी लाइनों और भीड़भाड़ की समस्या को दूर करने के लिए 7 नवंबर 2014 को National Highways Authority of India (NHAI) के माध्यम से फास्टैग की सुविधा शुरू की थी।

यह Electronic तकनीक है, जिससे समय के साथ-साथ ईंधन की भी बचत होती है. Radio Frequency Identification (RFID) तकनीक से फास्टैग की सेवा लोगों तक पहुँचती है.

आज के दौर में समय और ईंधन दोनों बचाने के लिए फास्टैग एक अच्छा और Smart तरीका है. इसकी मदद से लोगों को दोहरा खर्च नहीं उठाना पड़ेगा. यह एक ऐसी तकनीक है जो सभी को आसानी से उपलब्ध हो सकती है.

Ministry of Road Transport and Highways के मुताबिक, 15 फरवरी 2021 से सभी चार पहिया वाहनों के लिए FASTag अनिवार्य कर दिया गया है।

सभी वाहनों में FASTag होना जरूरी है. नहीं तो वाहन मालिक को जुर्माना भरना पड़ेगा.

हाल ही में देश के 540 से अधिक Toll Plaza पर FASTag कार्ड की सुविधा उपलब्ध हो गई है।

Toll Plaza में Toll  Tax का भुगतान करते समय 2 वाहनों के बीच कम से कम 4 मीटर की दूरी होनी चाहिए, ताकि FASTag कार्ड Toll Plaza पर लगे Scanner के Sensor को ठीक से Scan कर Toll राशि काट सके.

और दोबारा Toll अमाउंट काटने की वाया न रहे। FASTag 35 विभिन्न बैंकों से संचालित होता है. जो National Payments Corporation of India (NPCI) और NHAI द्वारा प्रचलित किया जाता है.

इससे टोल प्लाजा पर Manual Tax Collection सिस्टम को खत्म किया जा सकता है. FASTag कार्ड उपयोगकर्ता के Prepaid खाते से जुड़ा रहता है.

Fastag कैसे काम करता है?

Radio Frequency Identification (RFDI) के जरिए टोल प्लाजा पर Active (RFDI) तकनीक से लगे Scanner से वाहन में Passive RFDI तकनीक से लगे FASTag को Scan करके टोल टैक्स की कटौती की जाती है.

FASTag Stickers को वाहन के अंदर Windshield के ऊपर मध्य भाग में लगाया जाता है ताकि टोल प्लाजा के Scanner से इसे ठीक से Scan किया जा सके.

जैसे ही वाहन में FASTag Sticker लगाया जाता है, वाहन मालिक भारत के राष्ट्रीय राजमार्गों में प्रवेश करते ही टोल प्लाजा पर Smooth Driving करने में सक्षम हो जाता है.

FASTag से टोल टैक्स का भुगतान करने के लिए Paytm Wallet या Bank खाते में पैसा डालना होता है. जिससे वाहन के टोल प्लाजा पर पहुंचते ही फास्टैग एक्टिवेट हो जाता है और टोल टैक्स काट लिया जाता है.

Onine Fastag kaise banaaye?

दोस्तों FASTag को ऑनलाइन रजिस्टर करने या खरीदने के कई विकल्प उपलब्ध हैं. लेकिन आज हम Paytm का इस्तेमाल करके फास्टैग को खरीदेंगे. और यह Process बहुत आसान है दोस्तों.

Onine Fastag kaise banaaye
Onine Fastag kaise banaaye
  • FASTag को ऑनलाइन रजिस्टर करने के लिए सबसे पहले आपको अपने स्मार्टफोन से Paytm को ओपन करना होगा।
  • PayTM ओपन करने के बाद Search Bar पर क्लिक करें।
  • सर्च बार पर क्लिक करने के बाद आपको सर्च बार पर FASTag लिखना है और फिर सर्च करना है।
  • सर्च करने के बाद आपके सामने कई सारे विकल्प आएंगे, जिनमें से आपको Fastag को चुनना होगा।
  • उसके बाद आपसे आपका Vehicle Registration Number मांगा जाएगा जो Vehicle के आगे और पीछे की Number Plate पर लिखा होता है।
  • वहां आपको अपना Vehicle Registration Number भरना होगा।
  • Vehicle Registration Number भरने के बाद वाहन की RC के Front Side और Back Side के फोटो Upload करें।
  • RC की फोटो Upload करने के बाद नीचे दिए गए Address Option में अपना पता या उस जगह का पता दर्ज करें जहां आप फास्टैग Order करना चाहते हैं।
  • इसके बाद Buy बटन पर क्लिक करें।
Onine Fastag kaise banaaye
Onine Fastag Kaise Banaaye

BUY बटन पर क्लिक करने के बाद KYC Verification के लिए कहा जा सकता है. वहां, Voter ID या Driving License या Passport में से कोई एक विकल्प चुनें. और अपने पहचान पत्र का Details भरें और आगे बढ़ें. आखिरी Option में Payment का ऑप्शन आएगा,

जिसमें आप Credit Card, Debit Card, Wallet और UPI के जरिए Payment कर सकते हैं.

Payment करने के बाद, आपके द्वारा दिए गए पते पर 7 दिनों के भीतर FASTag पहुंचा दिया जाएगा.

Fastag कितने प्रकार के होते हैं?

Four Wheelers से लेकर बड़े और बड़े वाहनों पर FASTag स्टिकर लगाना अनिवार्य हो गया है. FASTag स्टिकर को वाहन के एक्सल की संख्या और आवश्यकता के अनुसार तैयार किया गया है. वाहनों में कुल 7 रंगों का फास्टैग लगाया जाता है.

FASTag मुख्य रूप से 2 प्रकार के होते हैं। जिसके अनुसार वाहन में फास्टैग लगा होता है, जैसे

  • M-type fastag
  • N-type fastag

M-type fastag

Private Vehicles में जिस प्रकार का फास्टैग लगाया जाता है वह M-type का FASTag होता है।

जिस वाहन का हम अपने निजी इस्तेमाल के लिए इस्तेमाल करते हैं, जिसकी Number Plate सफेद रंग की होती है।

ऐसे Private Vehicles के अंदर Violet color का फास्टैग लगाया जाता है।

N-type fastag

Private Vehicles को छोड़कर, अन्य सभी बड़े वाहनों में N-type के फास्टैग का उपयोग किया जाता है. व्हीकल के दो पहिये के बीच में लगा हुआ धुरी(Axle) के आधारित पे फास्टैग Card के Color choose किया जाता है. जिनका उल्लेख नीचे किया गया है.

  • जिस वाहन का उपयोग Commercial Purposes के लिए किया जाता है, उसमें लगा FASTag Orange Color का होता है।
  • जिन वाहनों में केवल 2 axles होते हैं, उस प्रकार के वाहनों में Green Color का फास्टैग लगाया जाता है।
  • बड़े वाहन, जिनमें सिर्फ 3 axles होते हैं। इसमें Yellow color के फास्टैग का इस्तेमाल किया जाता है।
  • जिन वाहनों में 4,5,6 अंक का धुरा होता है। उन सभी गाड़ियों में Pink color का फास्टैग लगाया जाता है।
  • Transportation के लिए बड़े ट्रकों का उपयोग किया जाता है, जिनमें 7 या अधिक धुरा होते हैं। उस प्रकार के वाहन में Sky blue रंग के फास्टैग का उपयोग किया जाता है।
  • फास्टैग Machinery वाहनों जैसे JCB, Mixture Machine और Construction कार्य के लिए उपयोग किए जाने वाले वाहनों में भी लगाया जाता है। जिसमें Black Color का फास्टैग लगाया जाता है।

इस तरह, गाड़ी के axle के हिसाब से और जरूरत के हिसाब से 7 अलग-अलग रंगों के फास्टैग स्टीकर का इस्तेमाल किया जाता है.

Fastag के फायदे

Advantages of fastag
Advantages Of Fastag

दोस्तों Fastag के इस्तेमाल से बहुत सारे फायदे होते हैं. तो चलिए इस पर चर्चा करते हैं. फास्टैग को इस्तेमाल करने का सबसे पहला और सबसे बड़ा फायदा यह है.

आपको टोल प्लाजा पर ज्यादा समय इंतजार करना नहीं पड़ता. इससे आपका समय और ईंधन की बचत होती है. और आप सभी अच्छी तरह से जानते होंगे कि आज हमारे लिए समय और ईंधन का क्या महत्व है.

जब आपका वाहन Boom Barrier पर पहुंच जाता है, तो Boom Barrier में लगा Scanner आपके वाहन में लगे फास्टैग को Scan करके आपके खाते से अपने आप Toll Tax काट लेता है.

इससे Cashless Transactions में भी काफी तेजी आया है. इसके साथ ही वाहन मालिक को इसमें एसएमएस अलर्ट की सुविधा भी मिलती है. इससे वाहन मालिक के लिए अपने वाहन को ट्रैक करना भी काफी आसान हो जाता है.

वहीं अगर टोल प्लाजा संचालकों की बात करें तो उनके लिए टोल टैक्स Collect करना काफी आसान हो गया है. जैसे कि हमें Google Pay या PhonePe में रिचार्ज करने पर या किसी को पैसे भेजने पर Cashback मिलता है. इसी तरह इसमें Cashback की सुविधा भी मिलती है.

Fastag के नुकसान

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि फास्टैग System पूरी तरह से Technology पर आधारित है. तो फायदे के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी हैं। जिसका सामना वाहन मालिक को करना पड़ता है.

जिसके बारे में जानना हम सभी के लिए बहुत जरूरी है। जिसे हमने नीचे समझाया है.

Disadvantages of fastag
Disadvantages Of Fastag

Technical Problems

फास्टैग सिस्टम को एक्टिवेट करने के लिए Network की उपलब्धता होना जरूरी है. Network Server हमेशा अच्छा होना चाहिए ताकि टोल प्लाजा पर फास्टैग Scan करते समय कोई परेशानी न हो.

तकनीकी खराबी के कारण वाहन मालिक और सरकार दोनों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है. कई बार ऐसा होता है कि बार-बार Transaction करने से फास्टैग Scanner काम करना बंद कर देता है. इस समस्या को दूर करने के लिए वाहन मालिक और सरकार को Backup प्लान रखना चाहिए.

Car Overheating

फास्टैग स्टिकर वाहन के अंदर Windshield पर लगाया जाता है. कई बार Overheating की वजह से गाड़ी के अंदर लगा फास्टैग बहुत ज्यादा गर्म हो जाता है.

इस वजह से फास्टैग ठीक से काम नहीं करता है। वहीं वाहन मालिक को टोल टैक्स भरने में परेशानी होती है।

Double charge

अगर किसी वाहन में फास्टैग स्टिकर नहीं है, तो वाहन मालिक को टोल प्लाजा पर दोगुनी राशि का भुगतान करना होगा. जैसा कि हमने आपको बताया कि 2021 के बाद से FASTag का इस्तेमाल अनिवार्य हो गया है.

इससे वाहन मालिक को सरकार को जुर्माने के साथ दोहरा टैक्स भी देना पड़ता है.

Local People

स्थानीय लोगों का मतलब उन लोगों से है जिनके घर टोल प्लाजा के पास हैं. उनके लिए FASTag का इस्तेमाल एक समस्या है। इसलिए हम ऐसा कह रहे हैं.

क्योंकि अगर उन्हें किसी दैनिक आधार के काम के लिए टोल प्लाजा पार करना पड़ता है, तो उन्हें Tax देना पड़ता है. इसके लिए स्थानीय लोगों को अलग से फास्टैग लगाना होगा। जिससे उन्हें Daily Charges नहीं देने पड़ेंगे.

Cloning Or Privacy

इस तकनीक के युग में Cloning एक बड़ी समस्या है. इससे फास्टैग System प्रभावित होता है. अगर कोई किसी और के फास्टैग कोड से नकली फास्टैग बना लेता है.

तो फिर Toll Tax  Amount असली व्हीकल ओनर के  Account से Deduct होगा. इससे असली फास्टैग मालिक को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

FASTag सिस्टम के चलते जब Toll Plaza पर गाड़ी के फास्टैग स्टीकर को स्कैन किया जाता है. तब वहां वाहन गतिविधियों का Data स्टोर हो जाता है.

इसके चलते अगर कोई किसी के वाहन को Track करना चाहता है तो वह कर सकता है. इससे लोगों की Privacy पर असर पड़ सकता है. तो ये थे हमारे कुछ फास्टैग के Disadvantages अब इससे आपको थोड़ा अंदाजा हो गया होगा कि FASTag के Disadvantages क्या होते हैं.

निष्कर्ष – Conclusion

हम आशा करते हैं कि आप सभी को हमारा यह लेख जिसमें हमने बताया है Fastag kya hai और Online Fastag kaise banaye बहुत पसंद आया होगा.

इस लेख में हमने जाना कि फास्टैग क्या है और यह कैसे काम करता है और हमारे जीवन में इसका क्या महत्व है. और इससे जुड़ी और भी कई बातें. उदाहरण के लिए, वाहन के लिए Petrol होना आवश्यक है.

इसी तरह हमारी सुरक्षा और Smart जीवन के लिए वाहनों में फास्टैग का होना जरूरी है. आप सभी को थोड़ा बहुत पता चल गया होगा की फास्टैग का हमारे जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है.

और इसके आने से हमारे लिए क्या बदलाव आए हैं? जैसा कि हमने उल्लेख किया है, इसके कई सकारात्मक प्रभाव हैं. जैसे की इससे समय और ईंधन की बचत होती है. और हमें भ्रष्टाचार से भी बचाता है.

और इसकी वजह से हमें कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. कुल मिलाकर यह एक ऐसा सिस्टम है जिसे हर वाहन मालिक को अपनाना चाहिए. इससे हमें और हमारी आने वाली पीढ़ी दोनों को फायदा होगा.

अगर हमारे इस आर्टिकल के बारे में आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें नीचे Comment Box में Comment करके जरूर बता सकते हैं.

हम और हमारी Team इसे हल करने की पूरी कोशिश करेंगे. अगर आप सभी को यह Article पसंद आया हो तो इसे Social Media पर Share करना ना भूलें. और हमें भविष्य में कुछ ऐसी ही अच्छी Content लिखने के लिए प्रेरित करें. Jai Hind

Sharing Is Caring...

5 thoughts on “Fastag Kya Hai Online Fastag Kaise Banaaye”

Leave a Comment